मध्यप्रदेश की अर्थव्यवस्था में होगा चमत्कारी परिवर्तन

अटल ज्योति अभियान की सफलता पर मुख्यमंत्री ने दी शाबाशी

cm-mp-big

भोपाल (डेली हिंदी न्‍यूज़)। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि चौबीस घंटे विद्युत मध्यप्रदेश की अर्थव्यवस्था में चमत्कारिक परिवर्तन करेगी। वे अटल ज्योति अभियान की पूर्णता पर ऊर्जा विभाग के अधिकारियों को अपने निवास पर बधाई दे रहे थे।

श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में 24 घंटे बिजली का संकल्प पूरा होने पर उसी तरह गद्गद् हैं जैसे कोई छोटा बच्चा इच्छित वस्तु को पाकर होता है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के निर्माण में बिजली का सबसे अहम योगदान रहेगा। इससे प्रदेश में उद्योग आयेंगे और ग्रामों में लघु और कुटीर उद्योगों का जाल बिछेगा।

उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में कृषि विकास दर 18.89 प्रतिशत वृद्धि के बाद लगातार उसमें 13 प्रतिशत की वृद्धि, प्रदेश को इस वर्ष विकास दर में प्रथम स्थान पर लाने में विद्युत का महत्वपूर्ण योगदान है। श्री चौहान ने 24 घंटे बिजली देने के अटल ज्योति अभियान की सफलता पर तीनों कम्पनियों के अधिकारियों की पीठ थपथपाते हुये कहा कि हाथ मिलाने की नहीं आज सबसे गले मिलकर बधाई देने की इच्छा है।

ऊर्जा मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि मुख्यमंत्री की राजनैतिक प्रतिबद्धता के कारण 24 घंटे बिजली देने का काम पूरा हुआ है। जबलपुर से जनवरी 2013 इसकी शुरूआत हुई थी जो इंदौर में 03 जुलाई को समाप्त हुआ। इस दौरान लोगों ने विद्युत उपलब्धता की स्थिति को उत्सव की तरह मनाया। अब इसे निरंतर जारी रखने की चुनौती है।

मुख्य सचिव श्री आर.परशुराम ने कहा कि प्रदेश में इनवर्टर खरीदने के दिन गये। मुख्यमंत्री के संकल्प और प्रतिबद्धता के चलते आज 24 घंटे बिजली उपलब्ध है। इसके लिये अधिकारियों की दिन-रात की मेहनत सराहनीय है। प्रमुख सचिव उर्जा श्री मोहम्मद सुलेमान ने कहा कि तीन साल पहले विद्युत राजस्व जहाँ साढ़े सात हजार करोड़ होता था वह आज बढ़कर 15 हजार 284 करोड़ हो गया है।


For latest sagar news right from Sagar (MP) log on to Daily Hindi News
सागर न्‍यूज़ के लिए डेली हिंदी न्‍यूज़ नेटवर्क 
Copyright © Daily Hindi News 2013 

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>